Vrishabha RashifalMithuna RashifalKanya RashifalMakara RashifalKumbha RashifalRashifal
Sign InSign In SIGN IN
hi.drikPanchang.com
deepak

विस्तृत ऑनलाइन पञ्चाङ्ग उज्जैन, मध्यप्रदेश, भारत के लिए

deepak
Useful Tips on
Panchang
Switch to English
Empty
Title
मई २०, १९०८
दिनाँक:
ग्लोब
अपना शहर खोजें:
विस्तृत ऑनलाइन पञ्चाङ्ग उज्जैन, भारत के लिए
   
बुधवार, मई २०, १९०८ का पञ्चाङ्ग उज्जैन, भारत के लिए
सूर्योदय:
०५:४४
सूर्यास्त:
१९:०३
हिन्दु सूर्योदय:
०५:४८
हिन्दु सूर्यास्त:
१८:५९
चन्द्रोदय:
२३:२३
चन्द्रास्त:
०९:२६
सूर्य राशि:
वृषभ
चन्द्र राशि:
धनु - १२:१७ तक
सूर्य नक्षत्र:
कृत्तिका
 
 
द्रिक अयन:
उत्तरायण
द्रिक ऋतु:
ग्रीष्म
वैदिक अयन:
उत्तरायण
वैदिक ऋतु:
वसन्त
हिन्दु लूनर दिनांक
शक सम्वत:
१८३० कीलक
चन्द्रमास:
वैशाख - अमान्त
विक्रम सम्वत:
१९६५ रौद्र
 
ज्येष्ठ - पूर्णिमान्त
गुजराती सम्वत:
१९६४
पक्ष:
कृष्ण पक्ष
तिथि:
पञ्चमी - २३:३२ तक
 
 
नक्षत्र, योग तथा करण
नक्षत्र:
पूर्वाषाढा - ०६:४० तक
योग:
शुभ - १२:५६ तक
क्षय नक्षत्र:
 
 
प्रथम करण:
कौलव - १२:४३ तक
 
 
द्वितीय करण:
तैतिल - २३:३२ तक
 
 
अशुभ समय
दुर्मुहूर्त:
११:५७ - १२:५०
वर्ज्य:
१४:०९ - १५:३८
राहुकाल:
१२:२३ - १४:०२
गुलिक काल:
१०:४४ - १२:२३
यमगण्ड:
०७:२७ - ०९:०५
 
 
शुभ समय
अभिजित मुहूर्त:
कोई नहीं
अमृत काल:
२३:०६ - २४:३६
अन्य
आनन्दादि योग:
श्रीवत्स - ०६:४० तक
तमिल योग:
सिद्ध - ०६:४० तक
 
वज्र - २३:२९ तक
 
मरण - २३:२९ तक
 
मुद्गर
 
मरण
होमाहुति:
मंगल - ०६:४० तक
अग्निवास:
आकाश - २३:३२ तक
 
गुरु
 
पाताल
निवास और शूल
दिशा शूल:
उत्तर में
राहु काल वास:
दक्षिण-पश्चिम में
नक्षत्र शूल:
कोई नहीं
चन्द्र वास:
पूर्व में १२:१७ तक
 
 
 
दक्षिण में १२:१७ से
चन्द्रबलम और ताराबलम
निम्न राशि के लिए उत्तम चन्द्रबलम १२:१७ तक:
मिथुन, कर्क, तुला,
धनु, कुम्भ, मीन
*वृषभ राशि में जन्में लोगो के लिए अष्टम चन्द्र
उसके पश्चात -
निम्न राशि के लिए उत्तम चन्द्रबलम अगले दिन सूर्योदय तक:
मेष, कर्क, सिंह,
वृश्चिक, मकर, मीन
*मिथुन राशि में जन्में लोगो के लिए अष्टम चन्द्र
निम्न नक्षत्र के लिए उत्तम ताराबलम ०६:४० तक:
अश्विनी, कृत्तिका, रोहिणी,
आर्द्रा, पुष्य, मघा,
उत्तराफाल्गुनी, हस्त, स्वाती,
अनुराधा, मूल, उत्तराषाढा,
श्रवण, शतभिषा, उत्तर भाद्रपद
उसके पश्चात -
निम्न नक्षत्र के लिए उत्तम ताराबलम २९:०५ तक:
भरणी, रोहिणी, मॄगशिरा,
पुनर्वसु, अश्लेशा, पूर्वाफाल्गुनी,
हस्त, चित्रा, विशाखा,
ज्येष्ठा, पूर्वाषाढा, श्रवण,
धनिष्ठा, पूर्व भाद्रपद, रेवती
उसके पश्चात -
निम्न नक्षत्र के लिए उत्तम ताराबलम अगले दिन सूर्योदय तक:
अश्विनी, कृत्तिका, मॄगशिरा,
आर्द्रा, पुष्य, मघा,
उत्तराफाल्गुनी, चित्रा, स्वाती,
अनुराधा, मूल, उत्तराषाढा,
धनिष्ठा, शतभिषा, उत्तर भाद्रपद
पञ्चक रहित मुहूर्त एवं उदय-लग्न
आज के दिन के लिए पञ्चक रहित मुहूर्त:
०५:४८ - ०६:४० मृत्यु पञ्चक
०६:४० - ०७:२२ अग्नि पञ्चक
०७:२२ - ०९:३५ शुभ मुहूर्त
०९:३५ - ११:५१ रज पञ्चक
११:५१ - १४:०३ शुभ मुहूर्त
१४:०३ - १६:१४ चोर पञ्चक
१६:१४ - १८:२८ शुभ मुहूर्त
१८:२८ - २०:४५ रोग पञ्चक
२०:४५ - २२:५१ शुभ मुहूर्त
२२:५१ - २३:३२ मृत्यु पञ्चक
२३:३२ - २४:३८ अग्नि पञ्चक
२४:३८ - २६:११ शुभ मुहूर्त
२६:११ - २७:४२ रज पञ्चक
२७:४२ - २९:०५ मृत्यु पञ्चक
२९:०५ - २९:२१ अग्नि पञ्चक
२९:२१ - २९:४७ शुभ मुहूर्त
आज के दिन के लिए उदय-लग्न मुहूर्त:
०५:४८ - ०७:२२ वृषभ
०७:२२ - ०९:३५ मिथुन
०९:३५ - ११:५१ कर्क
११:५१ - १४:०३ सिंह
१४:०३ - १६:१४ कन्या
१६:१४ - १८:२८ तुला
१८:२८ - २०:४५ वृश्चिक
२०:४५ - २२:५१ धनु
२२:५१ - २४:३८ मकर
२४:३८ - २६:११ कुम्भ
२६:११ - २७:४२ मीन
२७:४२ - २९:२१ मेष
२९:२१ - २९:४७ वृषभ
10.160.15.235
facebook button