deepak

विस्तृत ऑनलाइन पञ्चाङ्ग उज्जैन, मध्यप्रदेश, इण्डिया के लिए

deepak
Useful Tips on
Panchang
Switch to English
Empty
Title
नवम्बर ०७, १९११
दिनाँक:
ग्लोब
अपना शहर खोजें:
विस्तृत ऑनलाइन पञ्चाङ्ग उज्जैन, इण्डिया के लिए
   
मंगलवार, नवम्बर ०७, १९११ का पञ्चाङ्ग उज्जैन, इण्डिया के लिए
सूर्योदय:
०६:३५
सूर्यास्त:
१७:४६
हिन्दु सूर्योदय:
०६:३९
हिन्दु सूर्यास्त:
१७:४२
चन्द्रोदय:
१८:१८
चन्द्रास्त:
०७:०५
सूर्य राशि:
तुला
चन्द्र राशि:
मेष - १२:५७ तक
सूर्य नक्षत्र:
विशाखा
 
 
द्रिक अयन:
दक्षिणायण
द्रिक ऋतु:
हेमन्त
वैदिक अयन:
दक्षिणायण
वैदिक ऋतु:
शरद
हिन्दु लूनर दिनांक
शक सम्वत:
१८३३ विरोधकृत्
चन्द्रमास:
कार्तिक - अमांत
विक्रम सम्वत:
१९६८ रुधिरोद्गारी
 
मार्गशीर्ष - पूर्णिमांत
गुजराती सम्वत:
१९६८
पक्ष:
कृष्ण पक्ष
तिथि:
प्रतिपदा - १८:२८ तक
 
 
नक्षत्र, योग तथा करण
नक्षत्र:
भरणी - ०७:२९ तक
योग:
क्षय नक्षत्र:
 
 
प्रथम करण:
बालव - ०७:५५ तक
 
 
द्वितीय करण:
कौलव - १८:२८ तक
 
 
क्षय करण:
 
 
अशुभ समय
दुर्मुहूर्त:
०८:५१ - ०९:३६
वर्ज्य:
१८:२२ - १९:४९
 
२२:५३ - २३:४५
 
 
राहुकाल:
१४:५६ - १६:१९
गुलिक काल:
१२:१० - १३:३३
यमगण्ड:
०९:२५ - १०:४७
 
 
शुभ समय
अभिजित मुहूर्त:
११:४८ - १२:३३
अमृत काल:
अन्य
आनन्दादि योग:
मुसल - ०७:२९ तक
तमिल योग:
मरण - ०७:२९ तक
 
गद - २९:१६ तक
 
मरण - २९:१६ तक
 
मातङ्ग
 
अमृत
होमाहुति:
चन्द्र - २९:१६ तक
अग्निवास:
पृथ्वी - १८:२८ तक
 
मंगल
 
आकाश
निवास और शूल
दिशा शूल:
उत्तर में
राहु काल वास:
पश्चिम में
नक्षत्र शूल:
पश्चिम में २९:१६ से
चन्द्र वास:
पूर्व में १२:५७ तक
 
 
 
दक्षिण में १२:५७ से
चन्द्रबलम और ताराबलम
निम्न राशि के लिए उत्तम चन्द्रबलम १२:५७ तक:
मेष, मिथुन, कर्क,
तुला, वृश्चिक, कुम्भ
*कन्या राशि में जन्में लोगो के लिए अष्टम चन्द्र
उसके पश्चात -
निम्न राशि के लिए उत्तम चन्द्रबलम अगले दिन सूर्योदय तक:
वृषभ, कर्क, सिंह,
वृश्चिक, धनु, मीन
*तुला राशि में जन्में लोगो के लिए अष्टम चन्द्र
निम्न नक्षत्र के लिए उत्तम ताराबलम ०७:२९ तक:
अश्विनी, कृत्तिका, रोहिणी,
आर्द्रा, पुष्य, मघा,
उत्तराफाल्गुनी, हस्त, स्वाती,
अनुराधा, मूल, उत्तराषाढा,
श्रवण, शतभिषा, उत्तर भाद्रपद
उसके पश्चात -
निम्न नक्षत्र के लिए उत्तम ताराबलम २९:१६ तक:
भरणी, रोहिणी, मॄगशिरा,
पुनर्वसु, अश्लेशा, पूर्वाफाल्गुनी,
हस्त, चित्रा, विशाखा,
ज्येष्ठा, पूर्वाषाढा, श्रवण,
धनिष्ठा, पूर्व भाद्रपद, रेवती
उसके पश्चात -
निम्न नक्षत्र के लिए उत्तम ताराबलम अगले दिन सूर्योदय तक:
अश्विनी, कृत्तिका, मॄगशिरा,
आर्द्रा, पुष्य, मघा,
उत्तराफाल्गुनी, चित्रा, स्वाती,
अनुराधा, मूल, उत्तराषाढा,
धनिष्ठा, शतभिषा, उत्तर भाद्रपद
पञ्चक रहित मुहूर्त एवं उदय-लग्न
आज के दिन के लिए पञ्चक रहित मुहूर्त:
०६:३९ - ०७:१९ मृत्यु पञ्चक
०७:१९ - ०७:२९ अग्नि पञ्चक
०७:२९ - ०९:३५ शुभ मुहूर्त
०९:३५ - ११:४१ रज पञ्चक
११:४१ - १३:२९ शुभ मुहूर्त
१३:२९ - १५:०२ चोर पञ्चक
१५:०२ - १६:३२ शुभ मुहूर्त
१६:३२ - १८:१२ शुभ मुहूर्त
१८:१२ - १८:२८ चोर पञ्चक
१८:२८ - २०:०९ शुभ मुहूर्त
२०:०९ - २२:२२ रोग पञ्चक
२२:२२ - २४:३८ शुभ मुहूर्त
२४:३८ - २६:५० मृत्यु पञ्चक
२६:५० - २९:०१ अग्नि पञ्चक
२९:०१ - २९:१६ अग्नि पञ्चक
२९:१६ - ३०:३९ शुभ मुहूर्त
आज के दिन के लिए उदय-लग्न मुहूर्त:
०६:३९ - ०७:१९ तुला
०७:१९ - ०९:३५ वृश्चिक
०९:३५ - ११:४१ धनु
११:४१ - १३:२९ मकर
१३:२९ - १५:०२ कुम्भ
१५:०२ - १६:३२ मीन
१६:३२ - १८:१२ मेष
१८:१२ - २०:०९ वृषभ
२०:०९ - २२:२२ मिथुन
२२:२२ - २४:३८ कर्क
२४:३८ - २६:५० सिंह
२६:५० - २९:०१ कन्या
२९:०१ - ३०:३९ तुला
दैनिक उपवास और त्यौहार
10.240.0.60
facebook button