deepak

विस्तृत ऑनलाइन पञ्चाङ्ग उज्जैन, मध्यप्रदेश, इण्डिया के लिए

deepak
Useful Tips on
Panchang
Switch to English
Empty
Title
अप्रैल ०६, १९११
दिनाँक:
ग्लोब
अपना शहर खोजें:
विस्तृत ऑनलाइन पञ्चाङ्ग उज्जैन, इण्डिया के लिए
   
बृहस्पतिवार, अप्रैल ०६, १९११ का पञ्चाङ्ग उज्जैन, इण्डिया के लिए
सूर्योदय:
०६:१६
सूर्यास्त:
१८:४४
हिन्दु सूर्योदय:
०६:१९
हिन्दु सूर्यास्त:
१८:४०
चन्द्रोदय:
११:५२
चन्द्रास्त:
सूर्य राशि:
मीन
चन्द्र राशि:
मिथुन - २३:५८ तक
सूर्य नक्षत्र:
रेवती
 
 
द्रिक अयन:
उत्तरायण
द्रिक ऋतु:
वसन्त
वैदिक अयन:
उत्तरायण
वैदिक ऋतु:
वसन्त
हिन्दु लूनर दिनांक
शक सम्वत:
१८३३ विरोधकृत्
चन्द्रमास:
चैत्र - अमांत
विक्रम सम्वत:
१९६८ रुधिरोद्गारी
 
चैत्र - पूर्णिमांत
गुजराती सम्वत:
१९६७
पक्ष:
शुक्ल पक्ष
तिथि:
अष्टमी - २२:३० तक
 
 
नक्षत्र, योग तथा करण
नक्षत्र:
आर्द्रा - ०६:४८ तक
योग:
अतिगण्ड - १८:४८ तक
क्षय नक्षत्र:
 
 
प्रथम करण:
विष्टि - ११:२५ तक
 
 
द्वितीय करण:
बव - २२:३० तक
 
 
अशुभ समय
दुर्मुहूर्त:
१०:२६ - ११:१६
वर्ज्य:
१८:१६ - १९:४७
 
१५:२३ - १६:१२
 
 
राहुकाल:
१४:०२ - १५:३५
गुलिक काल:
०९:२५ - १०:५७
यमगण्ड:
०६:१९ - ०७:५२
 
 
शुभ समय
अभिजित मुहूर्त:
१२:०५ - १२:५४
अमृत काल:
अन्य
आनन्दादि योग:
काण - ०६:४८ तक
तमिल योग:
मरण - ०६:४८ तक
 
सिद्धि - २९:४४ तक
 
अमृत - २९:४४ तक
 
शुभ
 
सिद्ध
होमाहुति:
शुक्र
अग्निवास:
पाताल - २२:३० तक
 
 
 
पृथ्वी
भद्रावास:
स्वर्ग - ११:२५ तक
 
 
निवास और शूल
दिशा शूल:
दक्षिण में
राहु काल वास:
दक्षिण में
नक्षत्र शूल:
कोई नहीं
चन्द्र वास:
पश्चिम में २३:५८ तक
 
 
 
उत्तर में २३:५८ से
चन्द्रबलम और ताराबलम
निम्न राशि के लिए उत्तम चन्द्रबलम २३:५८ तक:
मेष, मिथुन, सिंह,
कन्या, धनु, मकर
*वृश्चिक राशि में जन्में लोगो के लिए अष्टम चन्द्र
उसके पश्चात -
निम्न राशि के लिए उत्तम चन्द्रबलम अगले दिन सूर्योदय तक:
वृषभ, कर्क, कन्या,
तुला, मकर, कुम्भ
*धनु राशि में जन्में लोगो के लिए अष्टम चन्द्र
निम्न नक्षत्र के लिए उत्तम ताराबलम ०६:४८ तक:
अश्विनी, कृत्तिका, मॄगशिरा,
पुनर्वसु, पुष्य, मघा,
उत्तराफाल्गुनी, चित्रा, विशाखा,
अनुराधा, मूल, उत्तराषाढा,
धनिष्ठा, पूर्व भाद्रपद, उत्तर भाद्रपद
उसके पश्चात -
निम्न नक्षत्र के लिए उत्तम ताराबलम २९:४४ तक:
भरणी, रोहिणी, आर्द्रा,
पुष्य, अश्लेशा, पूर्वाफाल्गुनी,
हस्त, स्वाती, अनुराधा,
ज्येष्ठा, पूर्वाषाढा, श्रवण,
शतभिषा, उत्तर भाद्रपद, रेवती
उसके पश्चात -
निम्न नक्षत्र के लिए उत्तम ताराबलम अगले दिन सूर्योदय तक:
अश्विनी, कृत्तिका, मॄगशिरा,
पुनर्वसु, अश्लेशा, मघा,
उत्तराफाल्गुनी, चित्रा, विशाखा,
ज्येष्ठा, मूल, उत्तराषाढा,
धनिष्ठा, पूर्व भाद्रपद, रेवती
पञ्चक रहित मुहूर्त एवं उदय-लग्न
आज के दिन के लिए पञ्चक रहित मुहूर्त:
०६:१९ - ०६:४२ रज पञ्चक
०६:४२ - ०६:४८ अग्नि पञ्चक
०६:४८ - ०८:२१ शुभ मुहूर्त
०८:२१ - १०:१८ रज पञ्चक
१०:१८ - १२:३१ शुभ मुहूर्त
१२:३१ - १४:४७ चोर पञ्चक
१४:४७ - १६:५९ शुभ मुहूर्त
१६:५९ - १९:१० रोग पञ्चक
१९:१० - २१:२४ शुभ मुहूर्त
२१:२४ - २२:३० मृत्यु पञ्चक
२२:३० - २३:४१ अग्नि पञ्चक
२३:४१ - २५:४७ शुभ मुहूर्त
२५:४७ - २७:३४ रज पञ्चक
२७:३४ - २९:०७ शुभ मुहूर्त
२९:०७ - २९:४४ शुभ मुहूर्त
२९:४४ - ३०:१८ चोर पञ्चक
आज के दिन के लिए उदय-लग्न मुहूर्त:
०६:१९ - ०६:४२ मीन
०६:४२ - ०८:२१ मेष
०८:२१ - १०:१८ वृषभ
१०:१८ - १२:३१ मिथुन
१२:३१ - १४:४७ कर्क
१४:४७ - १६:५९ सिंह
१६:५९ - १९:१० कन्या
१९:१० - २१:२४ तुला
२१:२४ - २३:४१ वृश्चिक
२३:४१ - २५:४७ धनु
२५:४७ - २७:३४ मकर
२७:३४ - २९:०७ कुम्भ
२९:०७ - ३०:१८ मीन
दैनिक उपवास और त्यौहार
10.160.15.213
facebook button