deepak

विस्तृत ऑनलाइन पञ्चाङ्ग उज्जैन, मध्यप्रदेश, इण्डिया के लिए

deepak
Useful Tips on
Panchang
Switch to English
Empty
Title
नवम्बर ०२, १९०८
दिनाँक:
ग्लोब
अपना शहर खोजें:
विस्तृत ऑनलाइन पञ्चाङ्ग उज्जैन, इण्डिया के लिए
   
सोमवार, नवम्बर ०२, १९०८ का पञ्चाङ्ग उज्जैन, इण्डिया के लिए
सूर्योदय:
०६:३२
सूर्यास्त:
१७:४८
हिन्दु सूर्योदय:
०६:३६
हिन्दु सूर्यास्त:
१७:४५
चन्द्रोदय:
१३:४८
चन्द्रास्त:
सूर्य राशि:
तुला
चन्द्र राशि:
मकर - १९:१३ तक
सूर्य नक्षत्र:
स्वाती
 
 
द्रिक अयन:
दक्षिणायण
द्रिक ऋतु:
हेमन्त
वैदिक अयन:
दक्षिणायण
वैदिक ऋतु:
शरद
हिन्दु लूनर दिनांक
शक सम्वत:
१८३० कीलक
चन्द्रमास:
कार्तिक - अमांत
विक्रम सम्वत:
१९६५ रौद्र
 
कार्तिक - पूर्णिमांत
गुजराती सम्वत:
१९६५
पक्ष:
शुक्ल पक्ष
तिथि:
अष्टमी - ०६:४६ तक
 
 
क्षय तिथि:
 
 
नक्षत्र, योग तथा करण
नक्षत्र:
श्रवण - ०७:५७ तक
योग:
गण्ड - १३:११ तक
क्षय नक्षत्र:
 
 
प्रथम करण:
बव - ०६:४६ तक
 
 
द्वितीय करण:
बालव - १७:४२ तक
 
 
क्षय करण:
 
 
अशुभ समय
दुर्मुहूर्त:
१२:३३ - १३:१७
वर्ज्य:
११:४२ - १३:११
 
१४:४६ - १५:३१
 
 
राहुकाल:
०८:०० - ०९:२३
गुलिक काल:
१३:३४ - १४:५८
यमगण्ड:
१०:४७ - १२:१०
 
 
शुभ समय
अभिजित मुहूर्त:
११:४८ - १२:३३
अमृत काल:
२०:४१ - २२:११
अन्य
आनन्दादि योग:
सिद्धि - ०७:५७ तक
तमिल योग:
अमृत - ०७:५७ तक
 
शुभ - ३०:२५ तक
 
सिद्ध - ३०:२५ तक
 
अमृत
 
अमृत
होमाहुति:
शुक्र - ३०:२५ तक
अग्निवास:
पृथ्वी - २८:३३ तक
 
शनि
 
आकाश
निवास और शूल
दिशा शूल:
पूर्व में
राहु काल वास:
उत्तर-पश्चिम में
नक्षत्र शूल:
कोई नहीं
चन्द्र वास:
दक्षिण में १९:१३ तक
 
 
 
पश्चिम में १९:१३ से
चन्द्रबलम और ताराबलम
निम्न राशि के लिए उत्तम चन्द्रबलम १९:१३ तक:
मेष, कर्क, सिंह,
वृश्चिक, मकर, मीन
*मिथुन राशि में जन्में लोगो के लिए अष्टम चन्द्र
उसके पश्चात -
निम्न राशि के लिए उत्तम चन्द्रबलम अगले दिन सूर्योदय तक:
मेष, वृषभ, सिंह,
कन्या, धनु, कुम्भ
*कर्क राशि में जन्में लोगो के लिए अष्टम चन्द्र
निम्न नक्षत्र के लिए उत्तम ताराबलम ०७:५७ तक:
अश्विनी, कृत्तिका, मॄगशिरा,
आर्द्रा, पुष्य, मघा,
उत्तराफाल्गुनी, चित्रा, स्वाती,
अनुराधा, मूल, उत्तराषाढा,
धनिष्ठा, शतभिषा, उत्तर भाद्रपद
उसके पश्चात -
निम्न नक्षत्र के लिए उत्तम ताराबलम ३०:२५ तक:
भरणी, रोहिणी, आर्द्रा,
पुनर्वसु, अश्लेशा, पूर्वाफाल्गुनी,
हस्त, स्वाती, विशाखा,
ज्येष्ठा, पूर्वाषाढा, श्रवण,
शतभिषा, पूर्व भाद्रपद, रेवती
उसके पश्चात -
निम्न नक्षत्र के लिए उत्तम ताराबलम अगले दिन सूर्योदय तक:
अश्विनी, कृत्तिका, मॄगशिरा,
पुनर्वसु, पुष्य, मघा,
उत्तराफाल्गुनी, चित्रा, विशाखा,
अनुराधा, मूल, उत्तराषाढा,
धनिष्ठा, पूर्व भाद्रपद, उत्तर भाद्रपद
पञ्चक रहित मुहूर्त एवं उदय-लग्न
आज के दिन के लिए पञ्चक रहित मुहूर्त:
०६:३६ - ०६:४६ शुभ मुहूर्त
०६:४६ - ०७:३६ रज पञ्चक
०७:३६ - ०७:५७ शुभ मुहूर्त
०७:५७ - ०९:५२ चोर पञ्चक
०९:५२ - ११:५८ शुभ मुहूर्त
११:५८ - १३:४६ रोग पञ्चक
१३:४६ - १५:१९ शुभ मुहूर्त
१५:१९ - १६:४९ मृत्यु पञ्चक
१६:४९ - १८:२८ रोग पञ्चक
१८:२८ - २०:२५ शुभ मुहूर्त
२०:२५ - २२:३८ मृत्यु पञ्चक
२२:३८ - २४:५५ अग्नि पञ्चक
२४:५५ - २७:०७ शुभ मुहूर्त
२७:०७ - २८:३३ शुभ मुहूर्त
२८:३३ - २९:१७ रज पञ्चक
२९:१७ - ३०:२५ रज पञ्चक
३०:२५ - ३०:३७ शुभ मुहूर्त
आज के दिन के लिए उदय-लग्न मुहूर्त:
०६:३६ - ०७:३६ तुला
०७:३६ - ०९:५२ वृश्चिक
०९:५२ - ११:५८ धनु
११:५८ - १३:४६ मकर
१३:४६ - १५:१९ कुम्भ
१५:१९ - १६:४९ मीन
१६:४९ - १८:२८ मेष
१८:२८ - २०:२५ वृषभ
२०:२५ - २२:३८ मिथुन
२२:३८ - २४:५५ कर्क
२४:५५ - २७:०७ सिंह
२७:०७ - २९:१७ कन्या
२९:१७ - ३०:३७ तुला
दैनिक उपवास और त्यौहार
10.160.15.193
facebook button