deepak

२०१९ चैत्र नवरात्रि कैलेण्डर उज्जैन, मध्यप्रदेश, इण्डिया के लिए

deepak
Useful Tips on
Panchang
Switch to English
Empty
Title
२०१९ चैत्र नवरात्रि
वर्ष:
ग्लोब
अपना शहर खोजें:
२०१९ चैत्र नवरात्रि के दिन उज्जैन, इण्डिया के लिए

नवरात्रि का दिन १


घटस्थापना दूब घटस्थापना कलश
th
अप्रैल २०१९
(शनिवार)

नवरात्रि का दिन २


घटस्थापना दूब घटस्थापना कलश
th
अप्रैल २०१९
(रविवार)

नवरात्रि का दिन ३


घटस्थापना दूब घटस्थापना कलश
th
अप्रैल २०१९
(सोमवार)


नवरात्रि का दिन ४


घटस्थापना दूब घटस्थापना कलश
th
अप्रैल २०१९
(मंगलवार)

नवरात्रि का दिन ५


घटस्थापना दूब घटस्थापना कलश
१०th
अप्रैल २०१९
(बुधवार)

नवरात्रि का दिन ६


घटस्थापना दूब घटस्थापना कलश
११th
अप्रैल २०१९
(बृहस्पतिवार)


नवरात्रि का दिन ७


घटस्थापना दूब घटस्थापना कलश
१२th
अप्रैल २०१९
(शुक्रवार)

नवरात्रि का दिन ८


घटस्थापना दूब घटस्थापना कलश
१३th
अप्रैल २०१९
(शनिवार)

नवरात्रि का दिन ९


घटस्थापना दूब घटस्थापना कलश
१४th
अप्रैल २०१९
(रविवार)

२०१९ चैत्र वसन्त नवरात्रि

चैत्र नवरात्रि, शरद नवरात्रि के समान, नौ दिनों के लिये आयोजित की जाती है। चैत्र नवरात्रि माँ दुर्गा को समर्पित होती है। माता के भक्त प्रतिपदा से नवमी तक माता के नौ स्वरूपों की पूजा-अर्चना और उपवास कर माता का आशीर्वाद प्राप्त करते हैं।

चैत्र नवरात्रि के लिये घटस्थापना चैत्र प्रतिपदा को होती है जो कि हिन्दु कैलेण्डर का पहला दिवस होता है। अतः भक्त लोग साल के प्रथम दिन से अगले नौ दिनों तक माता की पूजा कर वर्ष का शुभारम्भ करते हैं। चैत्र नवरात्रि को वसन्त नवरात्रि के नाम से भी जाना जाता है। भगवान राम का जन्मदिवस चैत्र नवरात्रि के अन्तिम दिन पड़ता है और इस कारण से चैत्र नवरात्रि को राम नवरात्रि के नाम से भी जाना जाता है।

चैत्र नवरात्रि के दिन माता दुर्गा के नौ भिन्न-भिन्न स्वरूपों को समर्पित होते हैं। शरद नवरात्रि में किये जाने वाले सभी अनुष्ठान चैत्र नवरात्रि के दौरान भी किये जाते हैं। शरद नवरात्रि और चैत्र नवरात्रि की घटस्थापना पूजा विधि समान ही होती है।

चैत्र नवरात्रि उत्तरी भारतीय प्रदेशों में ज्यादा प्रचलित है। महाराष्ट्र में चैत्र नवरात्रि की शुरुआत गुड़ी पड़वा से और आन्ध्र प्रदेश एवं कर्नाटक में उगादी से होती है।
10.240.0.10
Google+ Badge
 
facebook button